Rahat Indori Sad Shayari

Rahat Indori Sad Shayari
Rahat Indori Sad Shayari

कहते हैं 🔸जीते हैं उम्मीद पे लोग,
हमको तो जीने की भी🔸 उम्मीद नहीं !

गज़ब का प्यार🔸 था उस की उदास आँखों में,
गुमान तक ना हुवा की वो 🔸बिछड़ने वाली है !

फूंक डालुंगा मैं 🔸किसी रोज दिल की दुनिया,
ये तेरा खत तो नहीं है जो🔸 जला ना सकूं !

Leave a Comment

Exit mobile version